आज के आर्टिकल में हम VPN क्या है? यह कैसे काम करता है ? इसके बारे में बात करेंगे, VPN का पूर्ण रुप Virtual Private Network है। यह इंटरनेट पर हमारी जानकारी को गुप्त रखता है।

इसकी सहायता से हम अपनी पहचान को छुपा सकते है, और अपने कनेक्शन को और भी सिक्योर कर सकते है। VPN हमारी पहचान को internet service provider से छुपाता है।

Internet इस्तेमाल करने के फायदे भी हैं और कुछ नुकसान भी रोजाना हम बहुत सी जानकारी को इंटरनेट की सहायता से जानते है। हर छोटी से बड़ी चाहे कोई भी जानकारी हो सभी जानकारी हमें इंटरनेट से मिल जाती है। ओर हम जो कुछ भी browser में search करते है वो सारी जानकारी internet service provider तक पहुंचती है।

तो इस स्थिति में हमें खुद की जानकारी को और भी secure करना होगा जिससे हमारी पहचान छुप सके। इसलिए हमें एक ऐसे नेटवर्क की आवश्कता हुई जो public network को private network में बदल सकें। VPN मुख्यता हमारे डाटा को encrypt करता है तथा हमारे IP ADDRESS को बदल देता है।

आइए जानते है की VPN क्या है? यह हमारी पहचान को कैसे छुपाता है और कैसे यह हमारी डाटा को encrypt कर देता है। इससे होने वाले फ़ायदे तथा हम VPN कैसे डाउनलोड कर सकते है? यह भी जानेंगे।

vpn kya hai

VPN क्या है? (What is VPN in hindi)-

VPN का पूर्ण रुप Virtual Private Network होता है, यह public network को प्राइवेट network में create करता है। तथा यह हमारी डाटा को encrypt कर देता है और हमारे IP ADDRESS को बदल देता है।

यह हमारी पहचान को IP ADDRESS की सहायता से हमारी पहचान को internet service provider से छुपा देता है। यह IP ADDRESS को modify कर देता है।

हम बहुत सारे काम इंटरनेट की सहायता से करते है, चाहे वो ऑनलाइन शॉपिंग, ऑनलाइन बैंकिंग, ऑनलाइन चैटिंग, वीडियो कान्फ्रेंसिंग और भी बहुत से काम हम इंटरनेट की सहायता से करते है।

कभी कभी हम cafe, Hotel, Restaurant इत्यादि का WiFi इस्तेमाल करते है और WiFi की मदद से ऑनलाइन बैंकिंग जैसे काम भी करते है।

ऐसी स्थिती में हमारे डाटा के चोरी होने का खतरा होता है। कुछ इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर हमारी जानकारी के बदले में मोटी रकम वसूलते है और हमारी जानकारी को बेच देते है।

VPN हमारी जानकारी को Internet Service Provider तक Direct नही पहुंचने देता यह एक Tunnel की तरह काम करता है और हमारे IP ADDRESS को बदल देता है तथा सारे डाटा को encrypt कर देता है।

Encrypt का मतलब होता है कि किसी भी information को कोडिंग की फॉर्म में तब्दील कर देता है जिसे decrypt करने में दशकों लग सकते है।

आगे हम जानेंगे कि VPN कैसे हमारी पहचान को गुप्त रखता है और यह सारे डाटा को encrypt कैसे कर देता है।

VPN कैसे काम करता है?

अक्सर Internet पर हमें देखने को मिल जाता है कि आज किसी व्यक्ति की personal chat, personal information leaked हो गई। ऐसी स्थिती से बचने के लिए VPN हमारे लिए काम करता है।

सरकारी एजेन्सी हमारे बारे में इंटरनेट service provider से जो चाहे information को कलेक्ट कर सकती है।

हैकर्स हमारी जानकारी को ब्लैकमेल करने के लिए इस्तेमाल कर सकते है। ऐसे में जरूरी है की एक ऐसा नेटवर्क जो हमारी पहचान को छुपा सके।

हमारी browsing history, file sharing, personal information जैसे bank account details जैसी जानकारी आसानी से ISP (Internet Service Provider) के पास पहुंच जाती है।

IP ADDRESS प्रत्येक डिवाइस का unique address होता है जिससे की इंटरनेट या लोकल नेटवर्क हमारी डिवाइस को पहचानते है। VPN हमारे IP ADDRESS को modify कर देता है, यह हमारी लोकेशन तथा IP address को बदल देता है

जिससे ISP directly हमारे डिवाइस को नही पहचान पाता क्यूंकि VPN एक Tunnel की तरह काम करता है और ISP से हमारी जानकारी को छुपा देता है। तथा हमारे डाटा को encrypt कर देता है जिससे हमारा डाटा पढ़ने लायक नही रहता।

VPN हमारी निम्न चीजों को छुपाता है–

  • IP ADDRESS
  • Browsing history
  • Location
  • Device
  • Web activity

इसलिए जब भी आप WiFi का उपयोग करे तो VPN को कनेक्ट करना ना भूले। यह हमे ठगी से बचाता है। आजकल मार्केट में बहुत से Free VPN मौजूद है इसलिए सही VPN का चुनाव करना भी जरूरी है।

VPN को कनेक्ट करने से इंटरनेट स्पीड स्लो हो जाती है तो यह भी ध्यान रखने योग्य है की जो VPN हम इस्तेमाल कर रहे है वो कैसी इंटरनेट स्पीड देता है तथा डाटा की security कितनी है।

VPN के फ़ायदे –

  • VPN IP ADDRESS को बदल देता है जिससे हमारी पहचान गुप्त हो जाती है और ISP हमे पहचान नहीं पाता।
  • VPN की मदद से हम अपनी लोकेशन को भी बदल सकते है। 
  • जो application हमारे देश में ban है हम VPN की मदद से लोकेशन change करके उन्हे भी चला सकते है
  • VPN हमारे डाटा को encrypt कर देता है जिससे की वो पढ़ने योग्य नहीं रहता।
  • VPN हमें इंटरनेट यूज करने की पूरी आजादी देता है क्युकी इसकी मदद से banned sites को भी open कर सकती है।
  • यह हमारी सिक्योरिटी को कई गुणा बड़ा देता है क्युकी यह हमारी information को bypass कर देता है।

VPN के नुकसान –

  • VPN हमारी जानकारी को गुप्त रखता है इसलिए यह कुछ देशों में illegal है।
  • VPN Internet Speed को slow कर देता है।
  • जब हम VPN इस्तेमाल करते है तो मोबाइल डाटा ज्यादा इस्तेमाल होता है।
  • कुछ ऐसी ऑनलाइन सर्विसेज है जो VPN को ब्लॉक करती है।

VPN कभी भी malware और virus से नही बचाता है इससे बचने के लिए हमको antivirus सॉफ्टवेयर install करना चाहिए जिससे की हमारा डाटा corrupt ना हो।

नीचे कुछ VPN के नाम दिए गए है –

  • Surf Shark
  • NordVPN
  • Hotspot shield
  • ExpressVPN
  • PrivateVPN
  • IPVanish

VPN कैसे download करे?

VPN को download करने से पहले हमें VPN का चुनाव करना होगा जो हमारे connection को secure करें। और हमारे इंटरनेट स्पीड कम न हों तथा डाटा की खपत कम हो।

बहुत सारे फ्री VPN भी मार्केट में मौजूद है लेकिन यह कभी कभी महंगे भी पड़ सकते है क्युकी यह अपना काम पूरी तरह से नही कर पाते और इसका खमियाज़ा हमें भुगतना पड़ता है।

इसलिए paid VPN ले जिससे की आपकी सर्विस अच्छी मिले और आपको अपने डेटा का भी कोई खतरा न हो।

Paid VPN लेते वक्त यह ध्यान रहे की जो आपकी requirement है वह आपको paid VPN में मिल रही है या नही।

  • VPN का चुनाव करने के बाद हमें google पर उसका नाम टाइप करना होगा और उसके बाद VPN download करने के लिए लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • VPN डाउनलोड करने के बाद उसे install कर ले।
  • इंस्टॉल करने के बाद सेटिंग में जाए ओर connect कर ले।
  • आपका VPN काम करना शुरू कर देगा।

निष्कर्ष –

VPN connection हमारे और इंटरनेट के बीच connection को secure करता है। VPN की मदद से हमारा डाटा एक virtual tunnel के द्वारा पास होता है। और हमारी पहचान को छुपा देता है।

VPN हमारे IP ADDRESS को modify कर देता है। और जब आप इंटरनेट इस्तेमाल कर रहे होते है तो आपकी लोकेशन सभी के लिए छुपी हुई होती है और यह डाटा को encrypt कर देता है।

इससे हमने जाना कि जब भी हम private network का इस्तेमाल करे तो VPN connect करना ना भूले जिससे आपकी महत्वपूर्ण जानकारी चोरी ना हों और आपकी पहचान भी दूसरो की पहुंच से दूर रहें।


0 Comments

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published. Required fields are marked *